By | 28/07/2020

Rajasthan Aravalli Parvat- Peaks & Plateau (अरावली पर्वत की प्रमुख चोटियां एवं पठारों के बारे में) Aravalli Mountain of Rajasthan, राजस्थान राज्य के अरावली पर्वत पर्वत की प्रमुख चोटिया एवं पठार की जानकारी PDF में डाउनलोड करिये, Rajasthan Aravalli Mountains, Aravalli Pass (अरावली की प्रमुख पहाड़ियां, प्रमुख दर्रे)

Every year many questions come from the topic Rajasthan Aravalli Mountains in the competitive examinations in Rajasthan. If you are also preparing for any exam, then this post can be useful for the candidates to know more about the Aravalli Mountains and its regions. Here we have provided the information about the Rajasthan’s Aravalli Parvat. Read the whole article to know the detailed information about it.

इस पोस्ट के माध्यम से आज हम आपको राजस्थान राज्य के अरावली पर्वत के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी देने जा रहे है। यह जानकारी आप सभी के लिए परीक्षा की दृष्टि से महत्वपूर्ण सिद्ध हो सकती है। यहां हमने अरावली पर्वत की चोटियां एवं पठार से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी आप तक पहुंचने का प्रयास किया है। अतः आप इस पोस्ट को ध्यान से पढ़े जिससे की परीक्षा में अच्छे नंबर लेन में आपको मदद मिल सके।

Aravalli Peaks and Plateau (अरावली चोटियां एवं पठार के बारे में जानकारी )

Aravalli Parvat is an important topic in the Rajasthan Government Competitive levels examinations such as RSMSSB, RPSC Constable, Clerk, SI, and Others. Read the information about the Rajasthan Aravalli Mountain Peaks and Plateau. We hope this information will be useful for all to prepare for the exam. Download the PDF given in the end.

अरावली पर्वत की प्रमुख चोटिया एवं पठार का सामान्य ज्ञान

Rajasthan Aravalli Parvat has been subdivided into 3 parts –

 उतरी अरावली – अरावली Rajasthan Aravalli Parvat के इस भाग में सीकर, झुंझुनू, अलवर, जयपुर जिले आते है |

इसकी औसत ऊचांई = 450 मीटर है

इस प्रदेश में सर्वाधिक ऊँची चोटी = रघुनाथ गढ़ ( सीकर ) 1055 मीटर

मध्य अरावली – अरावली के इस प्रदेश / भाग में अजमेर आता है |

इस भाग की औसत ऊंचाई = 700 मीटर है |

सर्वाधिक ऊँची चोटी मोराम जी ( 933 मीटर ) तारागढ़ ( अजमेर ) – 873 मीटर

दक्षिणी अरावली – अरावली (Rajasthan Aravalli Parvat) के इस भाग में राजसमंद, सिरोही, उदयपुर, डूंगपुर आदि आते है |

इस भाग की औसत ऊंचाई = 1000 मीटर है |

सबसे ऊँची चोटी – गुरुशिखर (सिरोही)

इसको कर्नल टॉड ने संतो का शिखर कहा – (गुरुशिखर)

यहाँ पर भगवान दत्तात्रय का मंदिर स्थित है |

दक्षिणी अरावली में तस्तरी नुमा प्रदेश के मध्य 1559 ई. में उदयसिंह ने उदयपुर शहर की स्थापना की |

उदयपुर में जरगा व रागा पहाड़ियों के मध्य के प्रदेश को देशहरो कहा जाता है |

“अरावली की चोटियाँ”

Aravalli Parvat

Note – अरावली की ऊँची चोटियाँ याद करने का सूत्र

“गुरु से जरा अचल रहो”

  • गुरुशिखर (सिरोही) 1722 / 1727 मीटर
  • सेर (सिरोही) 1597 मीटर
  • देलवाड़ा (सिरोही) 1442 मीटर
  • जरगा (उदयपुर) 1433 मीटर
  • अचलगढ़ (सिरोही)
  • रघुनाथ (सीकर)

“अरावली के प्रमुख पठार”

राजस्थान अरावली पर्वत (Rajasthan Aravalli Parvat) सम्बधित प्रश्न

  • आबू का पठार सिरोही जिले में स्थित है इस पठार पर माउंट आबू नगर बसा है |
  • लसलिया का पठार उदयपुर जिले में स्थित है |
  • बीजासण का पठार भीलवाड़ा जिले में स्थित है |
  • उड़ीसा का पठार सिरोही जिले में स्थित है ( यह राज्य का सबसे ऊँचा पठार है )
  • भोराठ का पठार ( यह उदयपुर (गोमुंदा) ) से राजसमंद ( कुभंलगढ ) के मध्य फैला हुआ है |
  • ऊपरमाल का पठार – बिजोलिया (भीलवाड़ा) से भेसरोड़गढ़ (चित्तोड़) तक फैला हुआ है |
  • मैसा का पठार – चित्तोड़ का किला इस पठार पर ही बना है |

अरावली की पहाड़ियाँ”

सम्बधित प्रश्न –

  • जोधपुर का किला चिड़ियाँ की टूँक की पहाड़ी पर स्थित है |
  • सिवाणा की पहाड़ियाँ जालौर जिले में स्थित है |
  • सुंधा की पहाड़ियाँ जालौर जिले में स्थित है |
  • त्रिकुट पर्वतमाला जैसलमेर जिले में स्थित है |
  • मलखेत की पहाड़ियाँ सीकर जिले में स्थित है |
  • मुकुंदरा की पहाड़ियाँ कोटा जिले में स्थित है |
  • आड़ावाला की पहाड़ियाँ बूंदी जिले में स्थित है |

“ अरावली के प्रमुख दर्रे / नाल “

दर्रे / नाल – अरावली की पहाड़ियों को काटकर बनाये गये रास्तों को दर्रे / नाल कहा जाता है |

Note – राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 14 बर्र की नाल से ही गुजरता है |

Download Rajasthan Aravalli Mountain Notes PDF in Hindi

We shared here details about the Rajasthan Aravalli Parvat- Peaks & Plateau. If you have any query regarding this article, you can write to us in the comment box. We will try to solve your queries as soon as possible.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *